कोविड 19 के सिर्फ 19 नए मरीज, लेकिन जांच 19 हजार से भी अधिक की, सवाल – आखिर उत्तराखंड में कहां से आ रहे हैं इतने संदिग्ध?

देहरादून। उत्तराखंड में कोविड 19 के एक्टिव मरीजोंं की संख्या घटकर चार सौ से भी कम रह गई है। शनिवार को राज्य में सिर्फ 19 नए कोविड मरीज मिले। लेकिन, राज्य में अब भी रोजाना करीब 20 हजार सैंपल जांच के लिए भेजे जा रहे हैं। जब कोरोना अपने चरम पर था तो उस समय भी राज्य में अधिकतम 24 से 30 हजार तक सैंपल ही भेजे जा रहे थे। यहां पर बता दें कि सैंपल सिर्फ उन्हीं मरीजों के भेजे जाते हैं, जिनमें कोविड के लक्षण हों या फिर वह एेसे किसी मरीज के संपर्क में अाए हों। उत्तराखंड की कुल आबादी एक करोड़ से कुछ ही अधिक है अौर अब तक कुल 66,07,562 सैंपल जांच के लिए भेजे गए हैं। जिनमें 62,64,990 सैंपल निगेटिव और 3,42,572 पॉजिटिव पाए गए। यदि यह माना जाए कि पॉजिटिव मरीजों की जांच दो या तीन बार हुई तो भी सैंपल के आधार पर उत्तराखंड में हर दूसरे व्यक्ति की कोरोना जांच हुई है। लेकिन, ऐसा है नहीं। अगर सर्वे कराया जाए तो इस झूठ का पर्दाफाश हो जाएगा। कुंभ का कोरोना जांच घोटाला सामने है।

शनिवार को राज्य के 13 जिलों में से पांच में कोरोना का कोई भी मामला सामने नहीं आया। इसके बावजूद 19,759 सैंपल जांच के लिए भेजे गए। सवाल यह है कि आखिर से कोरोना संदिग्ध कौन हैं, जिनकी जांच हो रही है? कहीं एक बार फिर से तो कोई घोटाला नहीं पक रहा। अगर सच में ही इतने संदिग्ध रोज सामने आ रहे हैं तो फिर राज्य में कोरोना पर नियंत्रण का दावा कहीं खोखला तो नहीं है? राज्य में प्रवेश करने वाले लोगों से पहले ही निगेटिव आरटी-पीसीआर रिपोर्ट मांगी जा रही है तो फिर उनके सैंपल लेने का तो सवाल ही नहीं उठता।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here